• A-AA+
  • NotificationWeb

    Title should not be more than 100 characters.


    0

WeatherBannerWeb

असेट प्रकाशक

श्री सिद्धिविनायक गणपति मंदिर (मुंबई)

श्री सिद्धिविनायक गणपति मंदिर पश्चिमी भारत के सबसे प्रसिद्ध और धनी मंदिरों में से एक है। यह भारत की वित्तीय राजधानी, पश्चिमी महाराष्ट्र, भारत में मुंबई शहर के पश्चिमी भाग में प्रभादेवी में स्थित है। समृद्ध सांस्कृतिक विरासत की कहानी बताने वाले मंदिर की वर्तमान संरचना के माध्यम से भारतीय / महाराष्ट्रीयन संस्कृति की समृद्ध विरासत को देखा जा सकता है।

जिले/क्षेत्र

दादर, मुंबई जिला, महाराष्ट्र, भारत।

इतिहास

अभिलेखों के अनुसार, श्री सिद्धिविनायक मंदिर की मूल संरचना का निर्माण प्रभादेवी (मुंबई) में लक्ष्मण विथु पाटिल और देउबाई पाटिल द्वारा किया गया था।
देउबाई एक निःसंतान महिला थी जो भगवान से एक बच्चे के साथ आशीर्वाद पाने के लिए एक मंदिर बनाना चाहती थी। मंदिर की प्रारंभिक संरचना गुंबद के आकार के शिखर के साथ 3.6 मीटर × 3.6 मीटर वर्ग ईंट थी। गंभीर चरणों के बाद से, मंदिर कई परिवर्तनों से गुजर रहा है।
सिद्धिविनायक गणपति की मंदिर की मूर्ति को काले पत्थर में उकेरा गया है। श्री सिद्धिविनायक की मूर्ति के माथे पर शिव के तीसरे नेत्र के समान एक आंख जैसी विशेषता है। मूर्ति के किनारे, समृद्धि, समृद्धि और तृप्ति की रिद्धि और सिद्धि देवी की खुदी हुई मूर्तियाँ हैं, जिन्हें भगवान गणेश की पत्नी के रूप में जाना जाता है।
मंदिर की वर्तमान संरचना वास्तुकला के साथ आकर्षक और अद्वितीय है। लकड़ी के दरवाजों पर अष्टविनायक (महाराष्ट्र में गणेश के आठ स्वरूप) खुदे हुए हैं।

भूगोल

श्री सिद्धिविनायक गणपति मंदिर पश्चिमी महाराष्ट्र में मुंबई शहर के पश्चिमी उपनगर प्रभादेवी, दादर में है।

मौसम/जलवायु

इस क्षेत्र का प्रमुख मौसम वर्षा है, कोंकण बेल्ट में उच्च वर्षा (लगभग 2500 मिमी से 4500 मिमी) होती है, और जलवायु आर्द्र और गर्म रहती है। इस मौसम में तापमान 30 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है।
गर्मियां गर्म और आर्द्र होती हैं, और तापमान 40 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है।
सर्दियाँ तुलनात्मक रूप से हल्की होती हैं (लगभग 28 डिग्री सेल्सियस), और मौसम ठंडा और शुष्क रहता है।

करने के लिए काम

निकटतम पर्यटन स्थल

कोई भी श्री सिद्धिविनायक मंदिर के साथ-साथ निम्नलिखित पर्यटन स्थलों की यात्रा करने की योजना बना सकता है:

गेटवे ऑफ इंडिया (13 किमी)
हाजी अली दरगाह (7.2 किमी)
गिरगांव चौपाटी (11 किमी)
श्री महालक्ष्मी मंदिर (3.6 किमी)
जहांगीर आर्ट गैलरी (13 किमी)
एलीफेंटा गुफाएं (13 किमी)
दादर बाजार (लगभग 1.8 किमी)
शिवाजी पार्क (2.2 किमी)
विशेष भोजन विशेषता और होटल

महाराष्ट्र के तटीय भाग पर होने के कारण यहाँ की विशेषता समुद्री भोजन है। हालांकि, महाराष्ट्रीयन चचेरे भाई शहर में सबसे प्रसिद्ध हैं। यह सबसे अधिक देखे जाने वाले पर्यटन स्थलों में से एक है और मुंबई से जुड़े होने के कारण यहां के रेस्तरां विभिन्न प्रकार के व्यंजन परोसते हैं

आस-पास आवास सुविधाएं और होटल/अस्पताल/डाकघर/पुलिस स्टेशन

शौचालय जैसी बुनियादी सुविधाएं हैं, मंदिर के पास कुछ छोटे रेस्तरां हैं जो खाने योग्य और पैक पानी परोसते हैं। आपात स्थिति के लिए मंदिर में ही कुछ बुनियादी चिकित्सा सुविधाएं हैं।
सिद्धिविनायक हेल्थकेयर प्रा। लिमिटेड अस्पताल 800 मीटर है।
प्रभादेवी पुलिस चौकी 350 मीटर है।
घूमने का नियम और समय, घूमने का सबसे अच्छा महीना

माघी और भाद्रपद, गणेशोत्सव, अंगारकी चतुर्थी पूजा, गणपति जयंती और गुड़ी पड़वा उत्सव जैसे त्योहार के समय मंदिर में जा सकते हैं।
खुलने/बंद होने/आरती का समय (बुधवार से सोमवार)
*काकड़ आरती:- सुबह की प्रार्थना (सुबह 5:30 बजे से सुबह 6:00 बजे तक)
*श्री दर्शन:- सुबह (सुबह 6:00 बजे से दोपहर 12.15 बजे तक)
*नैवेद्य:- दोपहर (दोपहर 12:15 बजे से दोपहर 12:30 बजे तक)
*श्री दर्शन:- दोपहर से शाम (दोपहर 12:30 बजे से शाम 7:20 बजे तक)
*आरती - शाम की प्रार्थना (शाम 7:30 बजे से रात 8:00 बजे तक)
* श्री दर्शन - रात (सुबह 8:00 बजे से रात 9:50 बजे तक)
*शेज आरती - दिन की अंतिम आरती - 09:50 P.M
(मंदिर 'शेजारती' के बाद अगली सुबह तक बंद रहता है)
उद्घाटन/समापन/आरती का समय (मंगलवार)
*श्री दर्शन - प्रात:काल (3:15 पूर्वाह्न से 4:45 पूर्वाह्न तक)
*काकड़ आरती - प्रातःकालीन प्रार्थना - प्रातः 5:00 बजे से 5:30 पूर्वाह्न तक
*श्री दर्शन - प्रातः - 5:30 पूर्वाह्न से 12:15 अपराह्न तक
*नैवेद्य - दोपहर 12:15 बजे से दोपहर 12:30 बजे तक
*श्री दर्शन - दोपहर - 12:30 अपराह्न से 8:45 बजे तक
*शेज आरती - दिन की अंतिम आरती - 9:30 P.M
(शेजार्ती के बाद अगली सुबह तक मंदिर बंद रहता है)

क्षेत्र में बोली जाने वाली भाषा

अंग्रेजी, हिंदी, मराठी